Friday, February 19, 2016











तुम जितने अफज़ल पैदाओगे,
हम चुन चुन कर उनको मारेंगे,
जितने भी हैं गद्दार यहां,
उनके सीने पे तिरंगा गाड़ेंगे....

No comments:

Blogvani

www.blogvani.com

FeedBurner FeedCount